भोले-भाले ग्रामीणों को लालच देकर रूपए एंठने वाले चिटफंड कम्पनी के एजेंट की जमानत याचिका खारीज

बड़वानी – न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सेंधवा जफर खान ने पारित अपने आदेश में धारा 420, 406, 120बी, भादंवि, 4/76/79 चिटफंड अधिनियम 1982 एवं 6 (1) मप्र निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम 2000 के तहत आरोपियों रंजनाबाई उर्फ रंजुला पति देवकिशन उर्फ देवीसिंह निवासी धवली की जमानत याचिका निरस्त कर दी है। इस प्रकरण में अभियोजन की ओर सहायक अभियोजन अधिकारी राजमलसिंह अनारे ने पैरवी की।
अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया कि घटना 2011 से 2015 तक की हैं, जब ग्राम धवली में रंजनाबाई चिटफंड कम्पनी आरकेआर एग्रो कोआपरेटिव सोसायटी की ऐजेंट थी। आरोपी ने ग्राम धवली व आसपास के कई ग्रामों मेें सोसायटी के नाम से लोगों के खाते खोले थे। उन्हें बताया था कि कम्पनी 6 वर्ष के बाद अधिक ब्याज सहित रूपए वापस लौटा देगी। इस तरह आरोपी द्वारा कई लोगों के खाता खुलवाए गए और उनकी राशि लेकर फरार हो गई थी। जिस पर पीडि़तों द्वारा उसके एवं चिटफंड संचालक व कई ऐजेंटों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने उक्त आरोपी को गिरफ्तार न्यायालय के समक्ष पेश किया था।

Check Also

छेड़छाड़ करने वाले की जमानत निरस्त कर भेजा जेल बाईक चोरी के आरोपी की जमानत निरस्त कर भेजा जेल

बड़वानी – न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी विशाल खाड़े खेतिया ने पारित अपने आदेश में आरोपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *