कोविड के शुरुआती लक्षणों की जांच कर मुफ्त में दवाएं दी जाएंगी

छत्तीसगढ़ के रायपुर में कोरोना संक्रमण के मरीजों के बढ़ने की रफ्तार और तेज हो गई है। ऐसे में अब कोविड के शुरुआती लक्षण मिलने पर ही लोगों का उपचार शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए प्रदेश में पहली बार रायपुर में बुधवार को दो फीवर क्लीनिक की शुरुआत की गई है। पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के दो वार्डों में शुरू हुए इन क्लीनिकों का संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने शुभारंभ किया।

इस दौरान विधायक उपाध्याय ने कहा- शहर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के दो वार्डों में इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इसकी शुरुआत की गई है। सर्दी-खांसी, बुखार जैसी स्थिति में दवाई भी देनी है तो पहले ऑक्सीमीटर के माध्यम से उस मरीज के ऑक्सीजन लेवल और अन्य जानकारी ली जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा है कि हर व्यक्ति की मदद की जाए।

दीनदयाल ऑडिटोरियम में निशुल्क कोविड जांच केंद्र भी शुरू

इसके साथ विधायक विकास उपाध्यक्ष ने दीनदयाल ऑडिटोरियम निशुल्क कोविड जांच केंद्र का शुभारंभ किया। इस दौरान विधायक ने कहा कि लोगों की सहूलियत के लिए जांच केंद्र की शुरुआत की गई है। हम लोगों से ये अपील कर रहे हैं कि वे जांच कराएं और डरें मत। कोई सस्पेक्ट होता है तो प्राथमिक उपचार के बाद में उन्हें आइसोलेशन सेंटर में भेजा जा रहा है।

सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड-25 और ठक्कर बापा वार्ड-17 में खुलेगा क्लीनिक
रायपुर शहर में पश्चिम विधानसभा क्षेत्र सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड 25 स्थित साहू भवन और ठक्कर बापा वार्ड 17 स्थित कर्मा विद्यालय, दीक्षा नगर, गुढ़ियारी में इन क्लीनिकों की शुरुआत की गई है। विधायक विकास उपाध्याय बताते हैं कि इससे शुरुआती लक्षणों वाले मरीजों को चिन्हित करने में सहायता मिलेगी। अगर ये सफल रहा तो मुख्यमंत्री से बात कर इसे जिले के सभी वार्डों में खुलवाया जाएगा।

क्लीनिक पर मिलेंगी यह सुविधाएं

  • फीवर क्लीनिक में वार्ड का कोई भी व्यक्ति जिसे बुखार, सर्दी, जुकाम हो वह यहां जांच करा सकता है।
  • क्लीनिक में जांच को लेकर लैब के साथ ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, पीपीई किट सहित अन्य इंतजाम किए गए हैं।
  • जांच के बाद मरीजों को निशुल्क दवाइयों का भी वितरण किया जाएगा।
  • क्लीनिक में आने वाले सभी व्यक्तियों का जांच करने विशेषज्ञ, चिकित्सक और लैब टेक्नीशियन पूरे समय उपलब्ध रहेंगे। रायपुर में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने मंगलवार देर शाम जागरुकता लाने के लिए एलईडी युक्त पांच वाहनों को झंडी दिखाकर रवाना किया।

जागरुकता लाने के लिए एलईडी युक्त वाहनों की दिखाई झंडी
इससे पहले संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने मंगलवार देर शाम जागरुकता लाने के लिए एलईडी युक्त पांच वाहनों को झंडी दिखाकर रवाना किया। यह वाहन कोविड से बचाव और इसकी रोकथाम के प्रति लोगों को जागरूक करने का प्रयास करेंगे। इसमें लगी एलईडी के माध्यम से लोगों को कोविड के लक्षणों और उपचार के बारे में बताया जाएगा। जिससे लोग बिना डरे क्लीनिक तक आएं।

Check Also

छेड़छाड़ करने वाले की जमानत निरस्त कर भेजा जेल बाईक चोरी के आरोपी की जमानत निरस्त कर भेजा जेल

बड़वानी – न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी विशाल खाड़े खेतिया ने पारित अपने आदेश में आरोपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *