सतत् आर्थिक विकास की शर्त है पर्यावरण संरक्षण |

बड़वानी 11 दिसम्बर 2021/शहीद भीमानायक षासकीय स्नातकोत्तर महाविधालय बड़वानी में प्राचार्य डाॅ एनएल गुप्ता के मार्गदर्षन में ’’विष्व बैंक परियोजना’’ के अन्तगर्त अर्थषास्त्र विभाग द्वारा विषेष व्याख्यान का आयोजन किया गया।
मुख्य वक्ता सह-प्राध्यापक अर्थषास्त्र षासकीय कन्या महाविधालय बड़वानी डाॅ कविता भदौरिया ने ’’पर्यावरण संरक्षण तथा सतत् आर्थिक विकास’’ विषय पर विषेष उदबोधन दिया। डाॅ भदौरिया ने बताया कि वर्तमान ज्वलंत समस्याओं में सर्वाधिक गंभीरता लिये हुए है – पापुलेशन, पावर्टी, पालुशन (Population, Powerty, Pollution ) इन मुद्दों पर बहुत ही सहजता से विष्लेषण कर व्याख्यान में पर्यावरण संरक्षण हेतु आवष्यक षर्त संपोषणीय विकास को माना। अन्तर्राष्ट्रीय मंच पर भी 17 लक्ष्य तय किए गये । जिसमें पर्यावरण संरक्षण को केन्द्र में रखा। इसमें सतत् विकास के लक्ष्य प्राप्त करने में जनभागीदारी व एनएसएस के विधार्थियों की अहम भूमिका को आवष्यक बताया क्योंकि योजना व लक्ष्य प्राप्ति की सफलता का मूलमंत्र इनमें निहित होता है। पर्यावरण असंतुलन का सीधा व प्रत्यक्ष दुष्प्रभाव अर्थव्यवस्था पर पड़ता है। सतत् आर्थिक विकास के लिये प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण, समन्वित एवं संतुलित उपयोग, मृदा संरक्षण, भूमि संरक्षण, ओजोन परत, जैविक खेती, जल संरक्षण आवष्यक है । प्रतिवर्ष 5 जून को विष्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। डाॅ भदौरिया ने बताया कि वर्तमान में जल संरक्षण हेतु चलाये जा रहे ’’नदी जोड़ो अभियान’’ आदि की महत्ता पर प्रकाष डाला।
इस अवसर पर अर्थषास्त्र विषय के लगभग 100 विधार्थी लाभान्वित हुये तथा प्रष्नोत्तर के माध्यम से जिज्ञासाओं का समाधान किया। अर्थषास्त्र विभागाध्यक्ष डाॅ आषा साखी गुप्ता आयोजन समन्वयक ने ’’पर्यावरण संरक्षण की उपयोगिता’’ पर प्रकाष डाला। इस अवसर पर डाॅ लक्ष्मी वास्केल, प्रो राजेष मुजाल्दा, अतिथि विद्वान प्रो दिनेष रघुवंषी उपस्थित रहे। आभार प्रो उषा गायकवाड़ अर्थषास्त्र विभाग द्वारा दिया गया।

Check Also

सेठ एम. आर. जयपुरिया स्कूल में हुई स्पोर्ट डे एन्थुशिया के तहत विद्यार्थियों की विभिन्न खेलकूद गतिविधियां |

बड़वानी – शहर के सेठ एम. आर. जयपुरिया स्कूल में वार्षिक स्पोर्ट डे (एन्थुशिया) संपन्न …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *